कोरोना, वैश्विक आर्थिक मंदी आदि से संबंधित समस्याओं में 22 मार्च से क्रमिक सुधार संभावित

 

पिछले कुछ समय से ऐतिहासिक महत्वपूर्ण घटनाओं की चर्चा की जाए तो इनमें कोराेना वायरस की चर्चा बिल्कुल आम है जो वैश्विक चुनौती के रूप में उभर कर आई है। इसका जनमानस पर न केवल प्रत्यक्ष या मनोवैज्ञानिक दुष्प्रभाव पड़ा है बल्कि इसकी वजह से कई देशों की अर्थव्यवस्था बिल्कुल चरमरा गई है। कई देशों के शेयर बाजार में लगातार गिरावट का दौर जारी है खासकर पर्यटन, उड्डयन आदि व्यवसायों में अबतक की सर्वाधिक गिरावट दर्ज की गई है। सबसे बड़ा सवाल है कि ये सारी बातें कबतक भयभीत करेंगी ? ‘गत्यात्मक ज्योतिष’ के अनुसार – मध्य दिसंबर 2019 के आसपास शुरू हुई किसी भी तरह की व्यक्तिगत या वैश्विक समस्याओं की निरंतरता 22 मार्च के आसपास की तिथियों तक बनी रहेंगी। 22 मार्च या इसके आसपास भारत सहित कई देशों के शेयर मार्केट या इनकी करेंसी अपने निम्नतम स्तर पर, कोराेना वायरस का प्रकोप अपने उच्चतर स्तर पर एवं अनेक क्षेत्रों में मौसम में हो रहा उठापटक जारी रहेगी। पुनः इसके बाद धीरे धीरे इनसे संबधित खबरें समाचार सुर्खियों से हटती चली जाएंगी।

दरअसल विश्व का सृजन इसे सुन्दर और सुखी बनाने के लिए हुआ है। बहुत बार बड़े भूकम्प, सुनामी, महामारी, विश्वयुद्ध आदि का खतरा, किसी आकाशीय पिंड या धूमकेतु के पृथ्वी से टकराने की खबरे आती रहती है और टल भी जाती है। इन सभी को दृष्टिकोण में रखते हुए अनन्त शक्ति और आकाशीय पिंडों प्रभाव को स्वीकार करना पड़ता है।अंततः इसी निष्कर्ष पर पहुंचा जा सकता है कि ऊपर वाले ने संसार का सृजन सुन्दर बनाने के लिए किया है। ऊपरी शक्ति का बोध कराने के लिए अस्थायी रूप से रोग, शोक परिताप आदि के कई वज़ह आते रहते हैं लेकिन सार्वजनिक दुःख का कोई भी कारण चिरस्थाई नहीं होता।

मई के मध्य में एक अन्य प्राकृतिक आपदा संभावित है जिसकी चर्चा आगामी आर्टिकल के माध्यम से करूंगा।

विद्या सागर महथा
‘गत्यात्मक ज्योतिष’ के जन्मदाता

#कोरोना #corona #कोरोनावायरस #coronavirus

Gatyatmak Jyotish App

विज्ञानियों को ज्‍योतिष नहीं चाहिए, ज्‍योतिषियों को विज्ञान नहीं चाहिए।दोनो गुटों के झगडें में फंसा है गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष, जिसे दोनो गुटों के मध्‍य सेतु का काम करना है। ऐसे में गत्यात्मक ज्योतिष द्वारा समाज में ज्ञान के प्रचार प्रसार के कार्यक्रम में आम जनता ही सहयोग कर सकती है ..

जीवन में सामाजिक, पारिवारिक, राजनीतिक, धार्मिक और आर्थिक वातावरण का प्रभाव होता है और उनके हिसाब से सब जीवन जीते हैं। साथ ही इनसे लडकर खुद, परिवार या समाज के अन्‍य लोगों के मेहनत से जो उपलब्धियां आप हासिल करते हैं, वह आपका अपना कर्म होता है। यह हमलोग भी मानते हैं। पर लोगों के मन में ज्‍योतिष के प्रति गलत धारणा होती हैं। लोग यह नहीं समझते कि उनके सामने अच्छी या बुरी परिस्थितियां उत्‍पन्‍न होती हैं, वह ग्रहों का ही परिणाम होता है।

हमारा एप्प आपको दो या तीन दिनों तक वही परिणाम दिखाता है, जो आसमान के खास भाग में विभिन्‍न ग्रहों की स्थिति के कारण उपस्थित होते हैं और इसके कारण लोगों को किसी न किसी प्रकार की ख़ुशी या परेशानी का सामना करना पडता है। कभी इन दिनों में कोई काम मनोनुकूल ढंग से होता है और कभी सामान्‍य परिस्थितियां ही बनी रहती हैं। कभी इन दिनों में कोई भी काम मनोनुकूल ढंग से नहीं हो पाता और कभी असामान्‍य परिस्थितियां भी उपस्थित हो जाया करती हैं। कुछ को शारीरिक या मानसिक कष्‍ट या सुख मिलता है, खासकर जिनके जीवन का जो पक्ष संवेदी हो, वह अवश्‍य ही उभरकर इन दिनों मे उपस्थित हो जाया करता है।

पृथ्‍वी में हर वस्‍तु का अलग अलग रंग है , यानि ये भी अलग अलग रंगों को परावर्तित करती है । इस आधार पर सफेद रंग की वस्‍तुओं का चंद्र , हरे रंग की वस्‍तुओं का बुध , लाल रंग की वस्‍तुओं का मंगल , चमकीले सफेद रंग की वस्‍तुओं का शुक्र , तप्‍त लाल रंग की वस्‍तुओं का सूर्य , पीले रंग की वस्‍तुओं का बृहस्‍पति और काले रंग की वस्‍तुओं का श‍नि के साथ संबंध होने से इंकार नहीं किया जा सकता। हमारे एप्प में किसी दिन किसी बहुत बुरे ग्रह को दूर करने के लिए उस ग्रह के प्रभाव को दूर करनेवाले रंग के वस्त्र पहनने की सलाह भी दी गयी है।

लोगों का यह मानना है कि भविष्‍य सिर्फ आनंददायक ही नहीं होता , इसमें उलझनें भी होती है , कठिनाइयां भी होती हैं , तो क्‍यों न इसे अनिश्चित और रोमांचक ही रहने दिया जाए। इसे भी सही माना जा सकता है , पर फिर भी भविष्‍य की परिस्थितियों को जानना सबके लिए आवश्‍यक है , क्‍योंकि भविष्‍य में उपस्थित होनेवाली सफलताओं की जानकारी जहां वर्तमान कठिनाइयों से लडने की शक्ति देती है , वहीं भविष्‍य में उपस्थित होनेवाली कठिनाइयों की जानकारी अति आशावाद को कम कर , निश्चिंति को कम कर कर्तब्‍यों के प्रति जागरूक बनाती है। भविष्‍य इतना भी दृढ और निश्चित नहीं होता कि आपका रोमांच नहीं बने रहने दे , क्‍योंकि भविष्‍य को प्रभावित करने छोटा अंश ही सही , पर सामाजिक , राजनीतिक , आर्थिक , पारिवारिक परिवेश भी होता है और मनुष्‍य का खुद कर्म भी।

बहुत ख़ुशी की बात है कि हमारा एप्प users के लिए बहुत उपयोगी सिद्ध हो रहा है। तभी तो बिना किसी प्रचार के कम डाउनलोड के बावजूद दो महीनों में ही प्लेस्टोर में jyotish app ढूंढने पर यह 2०वें स्थान में आ जाता हैं। ज्योतिष एप्प्स के मध्य बेस्ट रेटेड एप्प (4.9) बन गया है। बहुत सारे यूजर इसे प्रतिदिन खोलकर इसके अनुरूप काम को अंजाम भी देने लगे हैं।

चंद्र-राशि, सूर्य-राशि या लग्न-राशि नहीं, अपने जन्मकालीन सभी ग्रहों पर आधारित सटीक दैनिक और वार्षिक भविष्यफल के लिए ———

PLAYSTORE में Gatyatmak Jyotish सर्च करें

Download & SignUp before Login

नोट – कुछ ही दिनों तक इनस्टॉल करने वालों के लिए यह एप्प पूर्णतः निःशुल्क है.

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.gatyatmakjyotish

#GatyatmakJyotishApp

2014 में कब किस लग्‍नवालों के हाथो में लगेगी मेहंदी …. किस लग्‍नवाले माथे पे सजेगा सेहरा ?

विवाह पारिवारिक एवं सामाजिक व्यवस्था के लिए एक महवपूर्ण मांगलिक कार्य है। युवकों और युवतियों के विवाह योग्य उम्र में प्रवेश करते ही माता-पिता और अभिभावक उनके विवाह के लिए चिन्तित हो जाते हैं , ताकि उन्हें अपने दायित्व से छुट्टी मिले। यदि विवाह-निर्धारण में थोड़ा भी विलंब होता है ,तो अधिकांश अभिभावक विवाह के निश्चित समय की जानकारी के लिए ज्योतिषियों से भी परामर्श देखे जाते हैं । कभी किसी ज्योतिषी की बातें सच निकलती हैं तो कभी झूठ भी , ऐसा इसलिए होता है क्योंकि अभी तक ज्योतिष की पुस्तकों में कोई ऐसा निश्चित सूत्र उपलब्ध नहीं है ,जिसे आधार पर हम किसी जातक के विवाह समय की निश्चित जानकारी प्राप्त कर सकें। इसे बावजूद प्राय: सभी जन्मपत्रों में शादी की कोई न कोई निश्चित उम्र लिखी हुई पायी जाती है। इस निश्चित उम्र का उल्लेख परंपरावादी पंडित किस आधार पर करते हैं ,यह तो वे ही जानते होंगे, परंतु इसमें सत्यता बिल्कुल नहीं होती ,इसे हमने महसूस किया है।

‘गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष’ की दृष्टि से लोगों के विवाह निर्धारण में गोचर के ग्रहों की महत्‍वपूर्ण भूमिका होती है , भले ही वैवाहिक सुख या कष्‍ट के लिए जन्‍मकालीन ग्रह जिम्‍मेदार हों। पर गोचर के ग्रहों की गत्‍यात्‍मक शक्ति की कमी और स्‍थैतिक शक्ति की प्रचुरता होने से उनकी क्रियाशीलता बढती है , जो कई प्रकार के शुभ कार्यों को करवाने में समर्थ होती हैं। इसलिए भिन्‍न भिन्‍न लग्‍नवालों के विवाह के लिए दूसरे दूसरे ग्रह जिम्‍मेदार होते हैं। प्रतिवर्ष नवंबर माह में मैं एक आलेख लिखा करती हूं , जिसमें विभिन्‍न लग्‍नवालों के लिए वर्षभर के विवाह के मुहूत्‍तों के बारे में जानकारी दी जाती है। आवश्‍यक नहीं कि उस लग्‍न के सभी युवाओं युवतियों के विवाह उस समयांतराल में हो ही जाएं , पर विवाह योग्‍य वर वधूओं में से अधिकांश की संभावना अवश्‍य बन जाती है। इंटरनेट में भी आप अपने लग्‍न की जानकारी के लिए कई लिंकों पर जा सकते हैं , यहां और यहां । जन्‍म के शहर के लांगिच्‍यूड और लैटिच्‍यूड की जानकारी के लिए आप इस लिंक पर भी जा सकते हैं।

चंद्र-राशि, सूर्य-राशि या लग्न-राशि से नहीं,
जन्मकालीन सभी ग्रहों और आसमान में अभी चल रहे ग्रहों के तालमेल से
खास आपके लिए तैयार किये गए दैनिक और वार्षिक भविष्यफल के लिए
Search Gatyatmak Jyotish in playstore, Download our app, SignUp & Login
——————————————————
अपने मोबाइल पर गत्यात्मक ज्योतिष को इनस्टॉल करने के लिए आप इस लिंक पर भी जा सकते हैं ———

नोट – जल्दी करें, दिसंबर 2020 तक के लिए निःशुल्क सदस्यता की अवधि लगभग समाप्त होनेवाली है।

विशेष – आप कुंडली बनवाने, कुंडली मिलाने और ज्योतिषीय परामर्श के लिए भी संपर्क कर सकते हैं।

ज्ञानदत्त पाण्डेय की मानसिक हलचल

ज्ञान दत्त पाण्डेय का ब्लॉग (Gyan Dutt Pandey's Blog)। मैं गाँव विक्रमपुर, जिला भदोही, उत्तरप्रदेश, भारत में रह कर ग्रामीण जीवन जानने का प्रयास कर रहा हूँ। ज़ोनल रेलवे के विभागाध्यक्ष के पद से रिटायर रेलवे अफसर।

आराधना का ब्लॉग

'अहमस्मि'- अपनी खोज में

GATYATMAK JYOTISH

BY WHICH ACCURATE PREDICTION CAN BE DONE

Gatyatmak Jyotish

Your Guide To The Future